क्या आप कभी सोशल मीडिया में लोगों की राय से थक जाते हैं?

ऐसा ही होता है।. यही कारण है कि गुणी लोग ब्लॉगिंग से प्यार करते हैं। । एक ब्लॉग का विकास इतना अधिक रोचक और सामाजिक मीडिया में बहुत ही आनन्ददायक है । अब तो जवाबदेह सभ्य समाज की धीरे धीरे एक धारणा विकसित हो रही है कि जो लोग ब्लॉग नहीं रखे हैं  या किसी पत्रिका से नहीं जुड़े हैं, दिलचस्प मंचों में भाग लेने या लेख लिखने के लिए , सोच की अपनी प्रक्रिया में वास्तव में गरीब है और अपने लेखन क्षमताओं पर एक जुल्म कर रहे हैं ।

आज ब्लॉगिंग की सोच में कोडिंग के ज्ञान, मेटा-टैगिंग, और भी अधिक की आवश्यकता है । आज ऐसे लोगों की एक बड़ी भीड़ सोशल मीडिया में बढ़ गयी है, उन्हें लेकर यह सोचा जा सकता है कि क्या हम Facebook में लिखने के स्तर पर ग़ौर करते हैं? हम कैसे खुद को व्यक्त करे, पता नहीं है। ठीक से लिखना यह भी  पता नहीं है । आज की  डिजिटल दुनिया में बुनियादी शिष्टाचार का पालन करते हुए इंटरनेट बंद नहीं किया जा सकता है । आज सभी परेशान है और क़ीमती दिमाग की कोशिकाओं को भी अनायास  Facebook में बर्बाद कर रहे हैं।

क्या हमने कभी एक व्यक्ति जो केवल सामाजिक मीडिया में ही व्यस्त है, उससे ब्लॉगिंग के बारे में पूछा या बात की ? “हम सभी मूर्ख हैं”, माफ कीजिए , लेकिन यह सच है । हमें कोडिंग html, मेटा टैग, जो करना आसान है के बारे में कुछ नहीं पता है ।

हम क्या हैं ? के रूप में सामाजिक मीडिया का उपयोग करें: एक उपकरण की तरह नहीं, मेरे मूल स्वभाव के एक मंच के रूप में, व्यापार के शब्दों के फैलाव और न ही चैट के लिए । आज हम केवल अपने सम्पर्कों और दोस्तों के साथ यहाँ चैट के लिए मेरे ब्लॉग और LinkedIn में मशगूल हैं । मैं अपनी चेतना को उन सामाजिक मीडिया दुकानों से दूर रखना पसंद करता हूँ और बस उन्हें अपने मुख्य ब्लॉगिंग स्रोत के माध्यम से एक त्वरित सम्पर्कों ( instant connection ) के रूप में उपयोग करता हूँ।

“मात्रा से अधिक गुणवत्ता आप सभी को खुशी और सफलता लाएगी ।”

“ Quality over quantity will bring you happiness and success.”